विश्व

सूडान में आर्मी और पैरामिलिट्री के बीच जारी जंग में अब तक 413 लोगों की मौत

सूडान Sudan Conflict में गत मंगलवार को संघर्षविराम लागू हो गया था. लेक‍िन उसके लागू होने के कुछ घंटों बाद फ‍िर से संघर्ष शुरू हो गया. इस दौरान जंग करने वाले जनरलों के वफादार बलों ने राजधानी में अहम जगहों पर संघर्ष किया और एक-दूसरे पर संघर्ष विराम का उल्लंघन करने का आरोप लगाया. इस गृह युद्ध में अब तक मारे जाने वालों की संख्‍या 413 हो गई है. वहीं 3,551 लोग इस लड़ाई में घायल हुए हैं. इन सभी मौतों के आंकड़ों को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन “WHO” ने दावा क‍िया है. तुर्की समाचार एजेंसी अनादोलू के मुताब‍िक इस संघर्ष में कम से कम 9 बच्चों के मारे जाने और 50 से अधिक के घायल होने की सूचना मिली है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने ये आंकड़ा बताया है. डब्ल्यूएचओ ने कहा कि इस खूनी संघर्ष में कम से कम 9 बच्चों की मौत हुई है जबकि 50 से अधिक बच्चे बुरी तरह जख्मी हैं. हालांकि, यह आंकड़ा आगे और बढ़ सकता है उन्होंने बताया कि पिछले 10 दिनों के दौरान 11 वेरीफाइड हमलों में से 10 हमले स्वास्थ्य सुविधाओं पर किया गया है. सूडान में जारी संघर्ष के मद्देनजर 20 हेल्थ फैसिलिटी को बंद कर दिया गया है. वहीं, उन्होंने बताया कि 12 स्वास्थ्य सुविधाएं जोखिम वाले इलाके में हैं, वो भी बंद होने के कगार पर हैं. उधर, यूनिसेफ के प्रवक्ता जेम्स एल्डर ने कहा कि सूडान में बच्चे पहले से ही अधिक कुपोषण के शिकार हैं. उन्होंने कहा कि यहां बच्चों में कुपोषण दर दुनिया में सबसे अधिक है. मगर मौजूदा जो स्थिति है वो और ज्यादा गंभीर है. 50 हजार बच्चों की जिंदगी दांव पर लगी है. एल्डर ने कहा कि सूडान में फंसे हुए लोगों की एक लंबी तादाद है. वे भोजन, पानी और दवाओं के लिए बाहर निकलने से डरते हैं. उनलोगों तक बिजली नहीं पहुंच पा रही है. यह एक गंभीर समस्या है. वहीं, उन्होंने एक अस्पताल के जलने को लेकर चिंता जताई. उन्होंने कहा कि पता नहीं वहां कैसी स्थिति होगी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button