राजनीति

यूपी विधानसभा -‘राज्यपाल वापस जाओ. नारे बाजी कर रहे सपा विधायक,

विपक्षी सपा के विधायक राज्यपाल के अभिभाषण का विरोध करते हुए वेल के करीब पहुंचकर राज्यपाल वापस जाओ के नारे लगा रहे हैं. सपा ने कानपुर की घटना के साथ ही महिला सुरक्षा और किसानों के मुद्दे पर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. उत्तर प्रदेश विधानसभा का बजट सत्र की शुरुआत पर वही हुआ, जिसका अंदेशा था.विधानसभा में विपक्षी समाजवादी पार्टी  सपा ने सरकार के खिलाफ कानपुर की घटना को. लेकर मोर्चा खोल दिया है. विधानसभा में विपक्ष ने महिला सुरक्षा, न्यूनतम समर्थन मूल्य  एमएसपी  समेत किसानों से जुड़े मुद्दों को लेकर सरकार पर हल्ला बोल दिया है यूपी विधानसभा के बजट सत्र की शुरुआत हो गई है. विधानसभा में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल विधानमंडल के संयुक्त सत्र को संबोधित कर रही हैं. विधानसभा में  राज्यपाल के अभिभाषण के बीच विपक्ष का हंगामा जारी है. विपक्षी सपा के विधायक वेल के करीब पहुंचकर नारे बाजी कर रहे हैं. सपा अध्यक्ष और विधानसभा में विपक्ष के नेता अखिलेश यादव भी विधानसभा पहुंच गए हैं. अखिलेश यादव ने भी जातिगत जनगणना को लेकर सरकार पर हमला बोला और इन्वेस्टर समिट को लेकर तंज किया. अखिलेश यादव ने कहा कि जो लोग इन्वेस्टर समिट के समय लगाए गए पौधों को नहीं बचा पा रहे हैं, वे लोग इन्वेस्टमेंट कहां से लाएंगे. उन्होंने कानपुर की घटना का जिक्र किया और कहा कि किसानों की समस्याओं से लेकर बेरोजगारी और कानून व्यवस्था तक, पूरी व्यवस्था चरमरा गई है. मनोज पांडेय ने  एमएसपी के साथ ही महिला सुरक्षा और जातिगत जनगणना जैसे मुद्दे भी उठाए. उन्होंने कहा कि सपा सदन के अंदर और बाहर, इसका भरपूर विरोध कर रही है मनोज पांडेय ने ये भी कहा कि सरकार को जवाब देना होगा कि उसकी नीति से किसका कितना और क्या भला हुआ है. उन्होंने कानपुर कांड को लेकर सरकार पर हमला बोला औरऔर कहा कि डीएम के सामने ये सब होता रहा और सरकार ने कोई कार्रवाई नहींकी.सपा के विधायक आज तख्तियां लेकर विधानसभा पहुंचे हैं जिन पर जातिगत जनगणना के साथ ही किसानों और अन्य मुद्दों को लेकर नारे लिखे हैं. गौरतलब है कि विधानसभा  सत्र की शुरुआत से एक दिन पहले सपा कार्यालय पर विधायक दल की बैठक हुई थी. शिवपाल यादव की मौजूदगी में हुई विधायक दल की बैठक में विधानसभा के भीतर पार्टी की रणनीति पर मंथन किया गया था. शिवपाल यादव ने रामचरितमानस को लेकर कुछ भी नहीं बोलने की नेताओं को हिदायत दी थी. पार्टी ने विधानसभा में जातिगत जनगणना के मुद्दे पर सरकार को घेरने की रणनीति बनाई थी  सपा विधायक हाथों में नारे लिखी तख्तियां लेकर पहुंचे हैं. विधायकों ने हाथ में तख्तियां ले रखी हैं जिन पर जातिगत जनगणना, एमएसपी, किसानों से जुड़े मामलों. को लेकर नारे लिखे हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button