खेल

जूनियर एशिया कप के फाइनल में पहुंची भारतीय टीम, कोरिया को 9-1 से हराया

भारतीय जूनियर पुरुष हॉकी टीम ने जूनियर एशिया कप 2023 के सेमीफाइनल में कोरिया को 9-1 से रौंदकर लगातार दूसरी बार फाइनल में जगह बना ली। एशियाई टूर्नामेंट के हर मैच में अपना वर्चस्व कायम करने वाली भारतीय टीम के लिये सेमीफाइनल में सुनीत लाकड़ा, अरिजीत सिंह हुंदल, अंगद बीर सिंह, उत्तम सिंह, विष्णुकांत सिंह और शारदानंद तिवारी ने एक-एक गोल किया, जबकि बॉबी सिंह धामी ने तीन गोल दागकर जीत में बहूमूल्य योगदान दिया। इस दमदार जीत के बाद गत चैंपियन भारत जूनियर एशिया कप के फाइनल में पहुंच गया है, जहां उसका सामना मलेशिया या पाकिस्तान में से किसी एक से होगा.इस मैच में भारत का प्रदर्शन दो अर्द्धों में बंटा रहा। पहले अर्द्ध में जहां भारत ने सचेत हॉकी खेली, वहीं दूसरे हाफ में बॉबी सिंह की अगुवाई में भारतीय युवाओं का आक्रामक रूप देखने को मिला। शुरुआती क्वार्टर में चौकस हॉकी खेलते हुए भारत ने 10वें मिनट में पहला मौका बनाया। बार-बार कोरियाई सर्किल भेदने वाली भारतीय टीम को पहली सफलता 13वें मिनट में सुनीत के गोल से मिली। दूसरे क्वार्टर में भी भारत ने गेंद पर अधिकतर समय कब्जा रखा, हालांकि 19वें मिनट में अरिजीत के गोल के अलावा हाफ टाइम तक कोई खिलाड़ी गेंद को नेट में नहीं पहुंचा सका। भारत ने आधा मैच गुज़रने तक 2-0 की बढ़त बना ली थी लेकिन उसे इस बढ़त को सुरक्षित करना ज़रूरी था। बॉबी सिंह ने तीसरे क्वार्टर के पहले ही मिनट में गोल दागकर यह काम शुरू कर दिया.उन्होंने कोरियाई अर्द्ध में विपक्षी टीम के डिफेंडर से गेंद छीनी और गोलकीपर को अकेला पाकर गोल कर दिया। इसके तीन ही मिनट बाद अंगद बीर सिंह ने भी एक दर्शनीय ड्रैग शॉट खेलकर भारत की बढ़त चौगुनी कर दी। कोरिया ने 35वें मिनट में प्रहार करके वापसी की कोशिश की लेकिन शशिकुमार ने शानदार बचाव के साथ उसे खाता खोलने का मौका नहीं दिया। शशि ने 37वें मिनट में भी कोरिया का एक बेहतरीन प्रयास रोका, लेकिन पिच की दूसरी तरफ गोल की बारिश होती रही। कप्तान उत्तम सिंह ने 38वें मिनट में कोरिया के तीन डिफेंडरों और गोलकीपर को छकाकर भारत का पांचवां गोल किया, जबकि धामी ने रिवर्स शॉट खेलकर 39वें मिनट में अपना दूसरा और भारत का छठा गोल जमाया.कोरिया ने 46वें मिनट में केन्योल हुआंग के गोल से अपना खाता खोला, हालांकि यह उसे फाइनल में पहुंचाने के लिये पर्याप्त नहीं था। विष्णुकांत ने 51वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर पर गोल करके भारत की बढ़त 7-1 पर पहुंचा दी। कोरिया की हार यूं भी सुनिश्चित हो चुकी थी, लेकिन बॉबी सिंह धामी ने 55वें मिनट में अपनी हैट्रिक पूरी की। शारदानंद (57वां मिनट) ने मैच के आखिरी क्षणों में गोल दागकर सेमीफाइनल का ज़ोरदार अंत किया।

Related Articles

50 Comments

  1. You really make it seem really easy together with your presentation but I in finding this matter to be really one thing which I feel I might never understand. It seems too complex and extremely wide for me. I am having a look forward for your subsequent put up, I will try to get the grasp of it!

  2. Hi there, just became aware of your blog through Google, and found that it is truly informative. I’m going to watch out for brussels. I will appreciate if you continue this in future. Lots of people will be benefited from your writing. Cheers!

  3. Excellent blog here! Additionally your web site lots up very fast! What web host are you the usage of? Can I am getting your affiliate hyperlink for your host? I desire my site loaded up as quickly as yours lol

  4. Hi! This post could not be written any better! Reading through this post reminds me of my old room mate! He always kept talking about this. I will forward this post to him. Pretty sure he will have a good read. Many thanks for sharing!

  5. Have you ever considered writing an ebook or guest authoring on other blogs? I have a blog based on the same ideas you discuss and would really like to have you share some stories/information. I know my readers would appreciate your work. If you’re even remotely interested, feel free to shoot me an email.

  6. Hi there! I could have sworn I’ve been to this site before but after browsing through some of the post I realized it’s new to me. Anyhow, I’m definitely delighted I found it and I’ll be bookmarking and checking back frequently!

  7. I got what you intend, regards for posting.Woh I am thankful to find this website through google. “Being intelligent is not a felony, but most societies evaluate it as at least a misdemeanor.” by Lazarus Long.

  8. I have read a few just right stuff here. Definitely price bookmarking for revisiting. I wonder how a lot attempt you place to create any such wonderful informative web site.

  9. Appreciating the time and effort you put into your site and in depth information you provide. It’s great to come across a blog every once in a while that isn’t the same unwanted rehashed material. Great read! I’ve saved your site and I’m adding your RSS feeds to my Google account.

  10. Hi, Neat post. There’s a problem with your web site in internet explorer, would test this… IE still is the market leader and a large portion of people will miss your great writing because of this problem.

  11. Howdy! I could have sworn I’ve been to this site before but after reading through some of the post I realized it’s new to me. Anyways, I’m definitely happy I found it and I’ll be book-marking and checking back often!

  12. Its like you read my mind! You appear to know a lot about this, like you wrote the book in it or something. I think that you can do with a few pics to drive the message home a little bit, but instead of that, this is wonderful blog. A fantastic read. I’ll definitely be back.

  13. Nice read, I just passed this onto a colleague who was doing some research on that. And he just bought me lunch because I found it for him smile So let me rephrase that: Thanks for lunch!

  14. I do consider all of the ideas you have introduced in your post. They’re really convincing and can definitely work. Still, the posts are too short for beginners. Could you please lengthen them a bit from next time? Thanks for the post.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button